Rohtasgarh kila – रोहतासगढ़ किले के समीप गाँव मे खुला लाइब्रेरी शिक्षा के प्रति जागरूक करने की पहल

Rohtasgarh kila Update – जिला मुख्यालय से करीब 80 किलोमीटर दूर कैमूर पहाड़ी पर स्थित प्राचीन रोहतास गढ़ किले के समीप बभनतालाब गांव में रेव्यूलुशन अगेंस्ट पॉल्यूशन (रैप) संस्था ने ‘लिट इंडिया’ सामुदायिक पुस्तकालय की स्थापना की. गत सात जनवरी को सामुदायिक पुस्तकालय के स्थापना के पीछे संस्था का एक मात्र उद्देश्य पहाड़ी गांव के लोगों में शिक्षा के प्रति जागृत करना है,पढ़ाई के माध्यम से सब कुछ हासिल हो सकता है इसी उपदेश के साथ इस लाइब्रेरी किया गया है क्योंकि यहाँ के लोग पढ़ाई के प्रति जागृत नही है,क्योंकि वहाँ साधन ही नही है,चाह कर भी वहां के लोग अच्छे से पढ़ाई नही कर सकते । गांव के एक घर के कमरे में दो टेबुल, आठ कुर्सियां, देश का नक्शा और कुछ सेल्फ में किताबों के साथ सामुदायिक पुस्तकालय का उद्घाटन स्थानीय ग्रामीण व संस्था के सदस्यों ने नारियल फोड़ व पूजा-अर्चना कर के लाइब्रेरी का उद्घाटन किया।

Rohtasgarh kila source – social media

क्या कहते है अधिकारी- Rohtasgarh kila

लाइब्रेरी की स्थापना के संबंध में रैप के संस्थापक मणिराज सिंह व विनीत प्रकाश ने बताया कि कुछ माह पहले रोहतासगढ़ किला घूमने आये थे. तब महसूस किया कि पहाड़ी के गांवों के युवाओं व बच्चों को बुनियादी शिक्षा की बहुत ही आवश्यकता है. इनमें शिक्षा के प्रति ललक पैदा करने के उद्देश्य से पुस्तकालय स्थापित करने की योजना बनायी,जैसे Rohtasgarh Kila की खूबसूरती पूरे बिहार में प्रसिद्ध ये वैसे ही यह पूरा गाँव के लोग अपने हुनर से प्रसिद्ध हो, इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए एचडब्ल्यूसी संस्था से संपर्क किया गया. उनके और स्थानीय लोगों के सहयोग से यह पुस्तकालय शुरू हो गया. उन्होंने कहा कि रोहतास बिहार में सबसे शिक्षित जिला है,अगर आप अपने बच्चे को सही से शिक्षा प्रदान कराएंगे तो आपका पीढ़ी आगे और विकसित होगा, इसको और शिक्षित करने के लिए पहाड़ी व दूर दराज के इलाकों में बुनियादी शिक्षा को दुरुस्त करने की आवश्यकता है. कार्यक्रम को सफल बनाने में एचडब्ल्यूसी संस्था के डायरेक्टर सूर्य प्रताप सिंह, प्रोग्राम मैनेजर उदिता सैकिया, रैप के सदस्य अजय, आदित्य, राहुल, सईद, अल्तमश व ग्रामीण शंकर उरांव आदि का
महत्वपूर्ण सहयोग रहा ।

यह भी पढ़े  रोहतास जिला में टूटा कोरोना का कहर , बीते 24 घंटे में मिले 369 नए संक्रमित मरीज ,11 लोगो ने कहा दुनिया को अलविदा - Rohtas Corona News
रोहतास जिले की छोटी बड़ी ख़बर पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

पहले जिले के नक्सल प्रभावित छेत्रो में से एक था रोहतासगढ़ किला का एरिया – Rohtasgarh kila

रोहतासगढ़ और उसके आसपास के छोटे छोटे गाँव पहले नक्सल प्रभावित छेत्रो में से एक थे,लेकिन दिन प्रतिदिन यहाँ के लोग भी समझदार और शिक्षित होना चाहिए। सरकार एवं लोकल जागृत जनता के प्रयासों से इस जगह को शिक्षित करने का प्रयाश किया जा रहा है,यहाँ लाइब्रेरी चालू करने का मुख्य उपदेश है लोगो को शिक्षा के प्रति आकर्षित करना ।

Leave a Comment