Pilot Baba Ashram Sasaram – पायलट बाबा आश्रम सासाराम

Pilot Baba Ashram Sasaram – रोहतास न केवल दर्शनीय स्थलों और शक्ति पीठों के लिए, बल्कि आश्रमों के लिए भी प्रसिद्ध है। भारत के कुछ प्रमुख और प्रचलित आश्रम की बात करे तो उनमे से इक आता है पायलट बाबा का आश्रम,परिसर में 80 फीट ऊंची बुद्ध की प्रतिमा का निर्माण किया गया है,जो कि बिहार का सबसे उच्चा प्रतिमा है,और बुद्धा भगवान का दुनिया मे सबसे उच्चा प्रतिमा,जिसका अनावरण सीएम नीतीश कुमार के हाथों से हुआ था |एक ऐसा शांत जगह जहां कोई भी पवित्र हिमालय क्षेत्र में पायलट बाबा से सीधे रहस्यवादी शिक्षण सीखता है। पायलट बाबा के भारत में कुल चार वही दो अंतरराष्ट्रीय स्थानों नेपाल और जापान में स्थित हैं।पायलट बाबा के भक्त दूर दूर से इनके आश्रम दर्शन करने आते है | उनमे से एक सासाराम का आश्रम है जहाँ आपको भक्ति के साथ साथ देशभक्ति की भी झलक देखने को मिल जाएगी , यहाँ एक से बढ़कर एक बड़ी बड़ी भगवान की प्रतिमा स्थापित किया गया है,आप कभी भी सासाराम को आये तो Pilot Baba Ashram Sasaram जरूर जाइये |

इस पोस्ट में क्या है?

पायलट बाबा की जीवनी – Biography of Pilot Baba

 Pilot Baba Biography In Hindi – पायलट बाबा एक भारतीय आध्यात्मिक गुरु हैं, जो पहले भारतीय वायु सेना में एक फाइटर पायलट विंग कमांडर थे, लगभग 15 साल देश का सेवा कर आध्यात्मिक गुरु महतप्पा गिरि से प्रभावित हो कर उन्होंने सन्यासी बनने का निर्णय लिया और लगभग 16 साल ताप किया और पायलट बाबा के नाम से मशहूर हुए | पायलट बाबा ने भारत में ही नहीं बल्कि पुरे विश्व इनके भक्त है,पायलट बाबा के भारत और विदेशों में कई आश्रम हैं।पायलट बाबा तपस्या के दिनों में तिब्बत के राजेश्वरी मठ नामक पवित्र स्थान में रहते थे और भगवन का आराधना करते थे । यह जगह महतप्पा गिरि के नेतृत्व में है।पायलट बाबा हिमालय के पर्वत के छोटी पर लगभग 16 साल रहे हैं,जो नंदा देवी घाटी के नाम से भी प्रचिलित है ।पायलट बाबा ने तपस्या के दौरान 7 वर्षों में लगभग 1600 मील की यात्रा तय की है।हिमालय पर्वत से वह कभी भी 10,000 फीट से नीचे नहीं आया।उन्होंने उच्च ऊर्जा से भरपूर अद्भुत जीवन का अनुभव किया है |

पायलट बाबा का शुरुआती ज़िंदगी और पेशा – Pilot Baba Early Life And Career

 Pilot Baba Biography In Hindi – पायलट बाबा का जन्म बिहार के रोहतास जिले के सासाराम में हुआ था,उनका बचपन का नाम कपिल सिंह था,साल 1957 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से जैविक रसायन विज्ञान में मास्टर डिग्री प्राप्त करने के बाद वायु सेना में भर्ती हुए थे कपिल सिंह,वायु सेना में वह एक फाइटर पायलट विंग कमांडर थे, |कपिल सिंह को 1957 में भारतीय वायु सेना में एक लड़ाकू पायलट के रूप में नियुक्त किये गए थे, उन्होंने 1962 के चीन-भारतीय युद्ध, 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध और 1971 के युद्धों के भारत-पाकिस्तान युद्ध में भाग लिया था।कपिल सिंह ने लगभग 14 से 15 साल तक देश की सेवा एक सिपाही के रूप में किया,उसी दौरान उनकी मुलाकात आध्यात्मिक गुरु महतप्पा गिरि से हुई वह उनसे इतना प्रभावित हुए की उन्होंने ठान लिया कि अब हमें सन्यासी ही बनना है और उसके बाद वायु सेना की नौकरी छोड़कर हिमालय की ओर निकल पड़े |

यह भी पढ़े  Gupta Dham Sasaram(गुप्ता धाम मंदिर) : 2 साल के बाद एक बार फिर से गुलजार होगा गुप्ता धाम, इस वर्ष सावन के महीने में अत्यधिक भीड़ लगने की संभावना

Pilot Baba Sasaram – पायलट बाबा आश्रम सासाराम

Pilot Baba Ashram Sasaram
Pilot Baba Ashram Sasaram

पायलट बाबा के आश्रम भारत और अन्य देश स्थापित हैं।

पायलट बाबा के भारत में कुल 4 आश्रमों है-PILOT BABA INDIA ASHRAM

Pilot Baba Ashram Sasaram
सासाराम
Pilot Baba Sasaram Temple, G.T Road,Dilia-821115 Sasaram, Bihar
Pilot Baba Ashram Haridwar
हरिद्वार
Yogmata Foundation
Daksh Road,
Jagjeetpur, Kankhal
Haridwar (Uttarakhand), INDIA
Phone:  +91 9758725307
Email : pilotbabaashram.hdr@gmail.com , webmaster@pilotbaba.org
Pilot Baba Ashram Nainital
नैनीताल
Shiv Shakti Dham
Tala Gethia,
Nainital -263130
Phone: +91 9006080003
Uttarakhand
Pilot Baba Ashram Uttarkashi
उत्तरकाशी
Uttarkashi-Gangnani-Gangotri-Bhaironghati-Harsil-BHATWARI-Uttarkashi

पायलट बाबा के विदेश में कुल 2 आश्रमों है-

जापान
नेपाल

पायलट बाबा ने अपने जिंदगी में कुल 6 पुस्तक लिखी है- Pilot Baba Books

कैलाश मानसरोवर
Pearls of Wisdom
हिमालय के रहस्यों की खोज
Antaryatra’ The Inner Journey
अपने आप से तीर्थ यात्रा
हिमालय कह राह है

Pilot Baba Ashram Sasaram कब जाए

TIME TABLE

गर्मियों में(IN SUMMER)सुबह बजे से 5 बजे तक
सर्दियों में (IN WINTER)सुबह 8 बजे से 6 बजे तक

Shershah Suri Tomb – शेरशाह सूरी का मकबरा के बारे में पढ़े- Click Here

रोहतास जिले की छोटी बड़ी ख़बर पढने के लिए यहाँ  क्लिक करे

Pilot Baba Ashram Sasaram
Pilot Baba Ashram Sasaram

पायलट बाबा आश्रम सासाराम कैसे पहुँचे – How to Reach Pilot Baba Ashram Sasaram

ट्रैन से कैसे पहुँचे पायलट बाबा आश्रम सासाराम – Pilot Baba Ashram Sasaram

पायलट बाबा आश्रम के नजदीकी रेलवे स्टेशन सासाराम है जो कि मुगल सराय-गया रेल मार्ग पर स्थित है।वनारस,प्रयाजराज,पटना,गया,रांची से आने वाले लोकल ट्रेनों का यहां रुकने का केंद्र है, सासाराम रेलवे स्टेशन से पायलट बाबा आश्रम की दूरी लगभग दो किलोमीटर है,जिसके लिए आसानी से आपको बस,ऑटो-रिक्सा मिल जाती है।आश्रम रेलवे मार्ग से काफी नजदीक है,बुद्ध भगवान की उच्ची प्रतिमा रेलवे लाइन से भी दिखती है।

यह भी पढ़े  Shershah College of Engineering Sasaram - शेरशाह इंजीनियरिंग कॉलेज सासाराम

रोडवे से कैसे पहुँचे पायलट बाबा आश्रम सासाराम – Pilot Baba Ashram Sasaram

नेशनल हाईवे 2 जो कि दिल्ली,उत्तर प्रदेश,बिहार को जोड़ता है,वही हाईवे कटकर सासाराम को जाती है,बाबा का आश्रम Gt. रोड ,डलिया में स्तिथ है।सासाराम शहर के एकदम बीचो-बीच स्तिथ है आश्रम,यदि आप डेहरी-ऑन-सोन के तरफ से आते है तो आपको सुवारा हवाई अड्डा व नारायण मेडिकल कॉलेज होते जैसे ही सासाराम में प्रवेश करेंगे वैसे ही ठीक बाई और आपको पायलट बाबा आश्रम देखने को मिलेगा।

Tutla Bhawani Waterfall – तुतला भवानी जलप्रताप के बारे में पढ़े- Click Here

4 thoughts on “Pilot Baba Ashram Sasaram – पायलट बाबा आश्रम सासाराम”

  1. पायलट बाबाजी की लिखी समाधी विज्ञानं पर हिंदी मे किताब यदि कोई है तो कृपा कर बताए

    मै महावतार बाबाजी की बताई हुई क्रिया योग का अभ्यास कर रहा hu

    Reply

Leave a Comment