वन विभाग ने किया कैमूर पहाड़ी पर बाघ होने का दावा खारिज | Mahadev Khoh Waterfall

Mahadev Khoh Waterfall-महादेव खोह नाम सुनते ही लगता है कोई आकर्षित जगह है,और इसके नाम मे भी देव आदि देव शिव शंकर का जिक्र होता है।,महादेव खोह रोहतास जिले के नौहट्टा प्रखंड के बौलिया में स्थित है,यहाँ के पहाड़,झरना और जंगल और महादेव का मंदिर आपका मन मोह लेगा।

Mahadev Khoo Baagh Latest News

वन विभाग ने कैमूर पहाड़ी पर बाघ होने का दावा खारिज

cctv कैमरे में मिले पैरों के निशान की जांच कर वन विभाग ने कहा “महादेव खोह आश्रम में दिखा तेंदुआ“बाघ होने का दावा किया खारिज

Mahadev Khoo Baagh news
mahadev khoo baagh ka photo
mahadev khoo lion
mahadev khoo news

रोहतास जिले के कैमूर पहाड़ी क्षेत्र के नौहट्टा प्रखण्ड स्थित एक आश्रम परिसर में सोमवार रात एक बाघ के देखे जाने की बात सामने आ रही थी। बाघ परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे की जद में भी आ गया था। लेकिन वन विभाग ने इन दावों को खारिज कर दिया है। उक्त जानवार के पद चिन्ह की जांच के बाद वन विभाग का कहना है कि खुरों के निशान तेंदुआ के हैं।

रोहतास की घुमने वाली जगह

तुतला भवानी जलप्रतापClick Here
मंझर कुंड जलप्रपातClick Here
पायलट बाबा आश्रम सासारामClick Here
कल्याणपुर सूर्यमंदिर(बंजारी)Click Here
महादेव खोह रोहतासClick Here
रोहतासगढ़ किलाClick Here
माँ ताराचंडी मंदिरClick Here

महादेव खोह रोहतास परिसर का देखभाल वहां की बनी कमेटी के द्वारा किया जाता है| परिसर  के अपने नियम कानून है जिसका पालन करना आम व्यक्ति की जिम्मेवारी है | सभी नियम का उल्लेख नीचे पोस्ट में किया गया है यहां जाने से पहले इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ ले ताकि आपको कोई परेशानी ना हो|

यह भी पढ़े  Pilot Baba Ashram Sasaram - पायलट बाबा आश्रम सासाराम

Mahadev Khoh से जुडी कुछ विशेष बाते:-

  1. यहाँ आप अपने पुरे परिवार को घुमाने लेके आ सकते है,यह जगह रोहतास के बिल्कुल सुरक्षित जगहों में से एक है|
  2. परिसर में लहसुन प्याज  से जुड़ी किसी भी सामान को बनाना या खाना वर्जित है|
  3. परिसर में किसी भी तरह का इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे मोबाइल कैमरा यह सभी चीजों का ले जाना वर्जित है झरने के आसपास आप फोटो और वीडियो बनाना सख्त मना है|

Mahadev Khoh Waterfallबिहार टूरिज्म को बढ़ावा देने में महादेव हो जल प्रताप का योगदान काफी ज्यादा है हाल फिलहाल में रोहतास के कई सारे झरने और मंदिर चर्चा में है रोहतास जिले में इको टूरिज्म का भी शुभारंभ हो चुका है वैसे में देखे तो आने वाले दिनों में महादेव को भी एक प्रसिद्ध स्थानों में से अपना जगह बना लेगा|

 दिन प्रतिदिन रोहतास जिले में नहीं बल्कि आसपास के सभी जिलों से यहां घूमने काफी सारे लोग आते रहते हैं तथा इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है|

Mahadev Khoh Waterfall Photo

Mahadev Khoh Waterfall
महादेव खोह रोहतास
Mahadev Khoh Waterfall Pic
Mahadev Khoh Waterfall Photo
Mahadev Khoh Waterfall Pic

Mahadev Khoh Waterfall Rohtas

वैसे तो रोहतास जिले में लगभग 200 से भी ज्यादा झरने हैं लेकिन महादेव को इनमें से सबसे आकर्षित है, बरसात के दिनों में यह जगह और भी खूबसूरत हो जाता है यहां की पहाड़ से लगभग 10 से भी अधिक जगह से झरना गिरता है और यही चीज महादेव खोह को और भी प्रकृतिमय बनाता है।

महादेव खोह जाने का सबसे बढ़िया समय

वैसे तो यहां  पर्यटक सालों भर घूमने आ सकते हैं लेकिन वहां के लोकल लोगों का कहना माने तो यहां सावन के दिनों में आना बढ़िया होता है तथा सावन में बरसात का भी आगमन हो जाता है जिससे वहां का वाटरफॉल स्टार्ट हो जाता है और जो खूबसूरती सावन के दिनों में वहां के परिसर में देखने को मिलता है और सीजन में नहीं मिलता है|

यह भी पढ़े  Rohtasgarh Fort History in Hindi |रोहतासगढ़ किला की कहानी

परिसर खुलने का समय

महादेव खोह परिसर प्रतिदिन सुबह 8 बजे से लेके शाम 5 बजे तक खुला रहता है|

Mahadev Khoh Waterfall Photo

Mahadev Khoh Waterfall
महादेव खोह रोहतासमहादेव खोह से जुडी कुछ विशेष बाते
महादेव खोह स्तिथ भगवन शिव का मंदिर


Mahadev kho Jane Ka Rasta

मेन रोड nh2c( डेहरी से यदुनाथ पुर पथ) जो की डेहरी-ऑन-सोन  से तिलौथू,तुम्बा, रसूलपुर,बंजारी,रोहतास होते बौलिया तक जाता है।सासाराम मुख्यालय से महादेव खोह का दूरी लगभग 80 किलोमीटर है।

सासाराम रोहतास जिले के मुख्य शहर में से एक है आप यहां ट्रांसपोर्ट और रेलवे के द्वारा भी आ सकते हैं उसके बाद यहां से महादेव खो जाने का एकमात्र साधन बस ट्रांसपोर्ट ही है।

Faq Related To Mahadev Khoo Waterfall

Mahadev Khoo में बाघ कब आया था ?

4 अप्रैल के रात में दिखा था महादेव खोह में बाघ

महादेव खोह कहा पर स्तिथ है ?

महादेव खोह कैमूर पहाड़ी क्षेत्र के नौहट्टा प्रखण्ड स्थित महादेव खोह

Leave a Comment