Kashish Waterfall – कशिश वॉटरफॉल

Kashish Waterfall:कशिश जलप्रपात भारतीय राज्य बिहार के रोहतास जिले के अमझोर स्थित एक झरना है जिसे कशिश के नाम से जाना जाता है। यह बिहार का  सबसे ऊंचा झरना है।लगभग 850 फ़ीट ऊपर से गिरता है पानी।यह स्थान चारों ओर से  हरियाली से घिरा हुआ है, इसके घने जंगल से पहाड़ों का नजारा अतिरमणीय है। यह रोहतास  जिला के सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है, बरसात के मौसम में खिल जाती है परिसर की खूबसूरती,पानी गिरने की ऊँचाई के शानदार दृश्य को देखने के लिए यह दूर दूर से आते है पर्यटक।

Kashish Waterfall
अमझोर स्शितिथ कशिश जलप्रताप

कैमूर की वादियो में बसा है कशिश जलप्रपात

रोहतास जिला में लगभग 8-10 वॉटरफॉल है उनमें से एक कशिश भी है। बरसात के मौसम के दौरान यह एक विकराल रूप धारण कर लेता है,और यह एक रोमांचक पिकनिक स्थल है।बीते कुछ सालों से इस जगह की लोकप्रियता लोगो के बीच बढ़ती जा रही है,कशिश चारो और से कैमूर की पहाड़ियों से घिरा हुआ है,बरसात के मौसम में यहां की खूबसूरती ही अलग होती है,जो रास्ता अमझोर(NH2C)से वॉटरफॉल तक जाता है उस रास्ता की खूबसूरती ही अलग है,चारो और पहाड़ो और हरियाली से गिरा हुआ है रास्ता।झरने से लगभग 1 km नीचे बाइक और कार की पार्किंग की जाती है।वहां से पैदल पहाड़ पर चढ़ने के आनंद ही अलग है।लोग यहां त्योहार व स्पेशल मौके को यादगार बनाने के लिए इस जगह का रुख करते है

यह भी पढ़े  Maa Tutla Bhawani Mandir से जुड़ी जानकारी,जिसे जानना है आपके लिए बेहद जरूरी
kaimur ki wadiya
कैमूर पहाडियों की वादियों में बसा कशिश

Maa Tutla Bhawani Waterfall :- Click Here

Maa Tutla Bhawani Waterfall के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करे

बिहार के खूबसूरत जगहों में से एक है कशिश वाटरफॉल-Kasish Waterfall Is One Of The Beautiful Places In Bihar

कशिश जलप्रपात कई सालों से प्रकृति प्रेमियों को अपनी ओर आकर्षित करता है, यहां आने के बाद लोग प्रकृति  की सुंदरता को नजदीक से देख पाते हैं।उच्चे पहाड़ से गिरते झरना को निहारना पर्यटको को काफी लुभाता है. इस झरने के चोरो और पेड़ पौधे और हरयाली व जंगल इस जगह को सुंदरता देता है।यहां लोग अकसर घूमने व दोस्तो और पिकनिक के इरादे से आते है,लोगो का ऐसा मानना है कि इस झरने में स्नान करने के बाद सभी प्रकार के चर्म रोगों से मुक्ति मिल जाती है,क्योंकि इस झरने का पानी उच्चे पहाड़ो के कई आयुर्वेदिक पौधे को टकराते आती है।इस झरना का लुत्फ उठाने रोहतास ही नहीं बगल के कैमूर, भोजपुर, औरंगाबाद, गया के लोग भी यहां आते है,हालांकि ये जगह अभी सोशल मीडिया से खूब चर्चित हुआ है,जो भी यहां का दृश्य देखता है वह यहां आने का इच्छा दिखता है,आए दिनों यह जगह और भी मशहूर होने वाला है,जैसे जैसे लोगो को इसकी खूबसूरती के बारे में पता चलेगा वैसे वैसे लोग यह घूमने आना पसंद करेंगे।इस जगह बड़ी परेशानी है साफ सफाई व देखरेख,इस जगह का कोई संचालक नही है,पिकनिक व पार्टी मनाने आय लोग यही कचरा और  प्लास्टिक की चीज़े फेक देते है,जिससे परिसर काफी गंदा हो जाता है,और जब अत्यधिक बरसात होते है तो पानी के बहाव से पुनः परिसर साफ हो जाता है,यहां जरूरत है कि एक किमिटी का गठन हो और नियम बने और इसकी खूबसूरती को बरकरार रखा जाय।

यह भी पढ़े  Indrapuri Dam - इंद्रपुरी बांध

कशिश वॉटरफॉल कैसे पहुँचे – How To Reach Kashish Waterfall

ट्रैन से कैसे पहुँचे Kashish Waterfall

अमझोर के नजदीकी रेलवे स्टेशन डेहरी ऑन सोन है जो कि मुगल सराय-गया रेल मार्ग पर स्थित है।वनारस,प्रयाजराज,पटना,गया,रांची से आने वाले लोकल ट्रेनों का यहां रुकने का केंद्र है, डेहरी-ऑन-सोन से कशिश वॉटरफॉल की दूरी लगभग(30 किमी) है,जिसके लिए आसानी से आपको बस,ऑटो-रिक्सा मिक जाती है।डेहरी से अमझोर आने का केवल एक ही परिवहन  साधन है ट्रांसपोर्ट

रोडवे से कैसे पहुँचे Kashish Waterfall

नेशनल हाईवे 2 जो कि दिल्ली,उत्तर प्रदेश,बिहार को जोड़ता है,डेहरी-ऑन-सोन से नौहट्टा याधुनाथपुर(नेशनल हाईवे 2C) के लिए एक सड़क जाती है।टेलकप मोर बस स्टैंड है,वहां से वॉटरफॉल की दूरी लगभग 2 k/m अन्दर है।टेलकप मोर से Kashish Waterfall के लिए आपको ऑटो-रिक्शा बुक कर ही जाना पड़ेगा,यहां कोई परिवाहन  सुविधा उपलब्ध नही है।यहां अपने परिवाहन से आना ही बेहतर होता है।

Leave a Comment