Shershah College of Engineering Sasaram – शेरशाह इंजीनियरिंग कॉलेज सासाराम
|

Shershah College of Engineering Sasaram – शेरशाह इंजीनियरिंग कॉलेज सासाराम

Shershah College of Engineering Sasaram- शेरशाह इंजीनियरिंग कॉलेज सासाराम (SCE) एक सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज है जिसका प्रबंधन विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, बिहार द्वारा किया जाता है। यह एआईसीटीई द्वारा अनुमोदित और मान्यता प्राप्त है और पटना में आर्यभट्ट नॉलेज यूनिवर्सिटी से संबद्ध है। कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग (एससीई), सासाराम सासाराम में स्थित एक प्रमुख सरकारी कॉलेज…

Maa Tutla Bhawani Mandir से जुड़ी जानकारी,जिसे जानना है आपके लिए बेहद जरूरी
|

Maa Tutla Bhawani Mandir से जुड़ी जानकारी,जिसे जानना है आपके लिए बेहद जरूरी

बिहार का सबसे खूबसूरत जगह में से एक है Maa Tutla Bhawani का मंदिर Tutla Bhawani Waterfall रोहतास जिले के तिलौथू में है माता रानी का मंदिर

Rajgir Zoo Safari | राजगीर जू सफारी से जुड़ी सारी जानकारी

Rajgir Zoo Safari | राजगीर जू सफारी से जुड़ी सारी जानकारी

Rajgir Zoo Safari – दोस्तों जैसा कि आपको पता होगा कि राजगीर में स्थित जू सफारी का उद्घाटन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा कर दिया गया है अब राजगीर आए सैलानियों का घने जंगल के बीचो-बीच जू सफारी का भी आनंद उठा सकेंगे | Rajgir Zoo Safari Park,Rajgir Wildlife Safari, Rajgir zoo safari…

Gupta Dham Sasaram(गुप्ता धाम मंदिर) : 2 साल के बाद एक बार फिर से गुलजार होगा गुप्ता धाम, इस वर्ष सावन के महीने में अत्यधिक भीड़ लगने की संभावना
|

Gupta Dham Sasaram(गुप्ता धाम मंदिर) : 2 साल के बाद एक बार फिर से गुलजार होगा गुप्ता धाम, इस वर्ष सावन के महीने में अत्यधिक भीड़ लगने की संभावना

Gupta Dham Sasaram-बीते पिछले 2 साल में करो ना महामारी के चलते गुप्ता धाम में श्रावणी मेला का आयोजन नहीं हो पाया है लेकिन इस साल गुलजार होगा गुप्ता धाम बीते पिछले 2 साल में मेला ना लगने के कारण सैलानियों में मायूसी देखने को मिली थी वहीं इस साल बोल बम के नारे से गुलजार होगा गुप्ता धाम का परिसर सज चुका है बाबा का दरबार लग चुकी है दुकाने सावन मेला के लिए पूरी तरीके से तैयार है दुकानदार आदमी सोमवार को अत्यधिक भीड़ लगने की संभावना है क्योंकि सावन महीने का पहला सोमवार को जलधार में पहुंचते हैं हजारों कांवरिया

Indrapuri Dam – इंद्रपुरी बांध
|

Indrapuri Dam – इंद्रपुरी बांध

Indrapuri Dam रोहतास जिले के इंद्रपुरी में इस्तिथ है यह डैम,अंग्रेज़ो के द्वारा बनाया गया है इंद्रपुरी डैम,एशिया महादीप में तीसरा सबसे लंबा डैम है इंद्रपुरी

Pilot Baba Ashram Sasaram – पायलट बाबा आश्रम सासाराम
|

Pilot Baba Ashram Sasaram – पायलट बाबा आश्रम सासाराम

Pilot Baba Ashram Sasaram – रोहतास न केवल दर्शनीय स्थलों और शक्ति पीठों के लिए, बल्कि आश्रमों के लिए भी प्रसिद्ध है। भारत के कुछ प्रमुख और प्रचलित आश्रम की बात करे तो उनमे से इक आता है पायलट बाबा का आश्रम,परिसर में 80 फीट ऊंची बुद्ध की प्रतिमा का निर्माण किया गया है,जो कि बिहार…

Maa Tarachandi Temple – बिहार का सबसे सुंदर माँ ताराचंडी मंदिर
|

Maa Tarachandi Temple – बिहार का सबसे सुंदर माँ ताराचंडी मंदिर

Maa Tara Chandi Temple Sasaram माँ ताराचंडी का मंदिर बिहार के रोहतास जिले के सासाराम में इस्तिथ है माता रानी का दरबार

वन विभाग ने  किया कैमूर पहाड़ी पर बाघ होने का दावा खारिज | Mahadev Khoh Waterfall
|

वन विभाग ने किया कैमूर पहाड़ी पर बाघ होने का दावा खारिज | Mahadev Khoh Waterfall

Mahadev Khoh Waterfall-महादेव खोह नाम सुनते ही लगता है कोई आकर्षित जगह है,और इसके नाम मे भी देव आदि देव शिव शंकर का जिक्र होता है।,महादेव खोह रोहतास जिले के नौहट्टा प्रखंड के बौलिया में स्थित है,यहाँ के पहाड़,झरना और जंगल और महादेव का मंदिर आपका मन मोह लेगा। Mahadev Khoo Baagh Latest News वन…

Manjhar Kund Waterfall Sasaram  | प्रकृति की खूबसूरती को नजदीक से देखना है तो आइये मंझर कुंड जलप्रपात
|

Manjhar Kund Waterfall Sasaram | प्रकृति की खूबसूरती को नजदीक से देखना है तो आइये मंझर कुंड जलप्रपात

Manjhar Kund Waterfall Sasaram– रोहतास जिले में एक से बढ़कर एक प्रकृति प्रेमियों को आकर्षित करने वाली जगहे उपस्तिथ है। जहाँ आप अपने परिवार,दोस्त के साथ घुमने जा सकते है और प्रकृति के सुंदरता को निहार सकते हैं बल्कि प्रकृति के संगीत का भी आनंद ले सकते हैं । Sasaram waterfall WWW.JILAROHTAS.COM Manjhar Kund Waterfall –…

Rohtasgarh Fort History in Hindi |रोहतासगढ़ किला की कहानी
|

Rohtasgarh Fort History in Hindi |रोहतासगढ़ किला की कहानी

Rohtasgarh Fort History in Hindi – रोहतास का किला एक पहाड़ी की चोटी पर एक पठार पर बना हुआ है, जिसके किनारे उभरे हुए हैं। किले तक जाने वाले कदम पहाड़ी के चूना पत्थर में काटे गए हैं। अतीत में, कई धाराओं ने पठार को पार किया और मिट्टी उत्पादक थी, जिससे फसलों की आसान…