Jawahar Lal Nehru College Dehri – कॉलेज प्रशासन की लापरवाही से कई छात्र-छात्राएं इस वर्ष बीए पार्ट वन परीक्षा से रह सकते वंचित

Jawahar Lal Nehru College Dehri : जवाहरलाल नेहरू कॉलेज मनोरा में बीए पार्ट वन में नामांकन कराये दर्जनों छात्रों के राजस्ट्रेशन नहीं होने से वे परीक्षा फॉर्म नहीं भर सके.वीर कुंवर सिंह आरा यूनिवर्सिटी परीक्षा समिति और कॉलेजों के लापरवाह रवैया के कारण इस  वर्ष संचालित होने वाली बीए पार्ट वन की परीक्षा से दर्जनों छात्र-छात्राएं वंचित हो सकते हैं।वीर कुंवर सिंह आरा यूनिवर्सिटी परीक्षा समिति  की ओर से जारी हो चुका है  एडमिट कार्ड।

परीक्षा फॉर्म भरने की अंतिम तिथि चार जनवरी तक वैसे छात्र-छात्रायें कॉलेज के प्राचार्य से लेकर यूनिवर्सिटी के पदाधिकारियों तक गुहार लगाते रहे, लेकिन वे अधिकारियों को मनाने में सफल नहीं हो पाये. फॉर्म भरने की अंतिम तिथि समाप्त होने के बाद आक्रोशित छात्रों ने कर कुंवर सिंह विविद्यालय के कुलपति महोदय से यह गुहार लगायी है कि स्पेशल केस में उनका रजिस्ट्रेशन करा कर परीक्षा में बैठने की अनुमति प्रदान करें, ताकि उनका अति महत्वपूर्ण शैक्षणिक दो वर्ष बर्बाद नहीं हो पाये, छात्रों ने कुलपति महोदय से आग्रह पूर्वक एक सवाल किया है कि Jawahar Lal Nehru College Dehri कॉलेज प्रशासन को लापरवाही की सजा हम छात्रों को भुगतना क्या न्यायोचित है, छात्रों ने कहा कि उनका नामांकन स्नातक सत्र 2019-22 में हुआ है. नामांकन के लिए ऑनलाइन  फॉर्म भरने के बाद आवंटित कालेज में नामांकन करा कर उन्हें रिसिष्ट भी प्राप्त हुआ है, जब उक्त कॉलेज में निर्धारित सीट तक नामांकन हो चुका था. तो फिर क्यों और कैसे कॉलेज प्रशासन ने हम लोगों का नामांकन क्रिया, पिछले दो वर्ष से हम उक्त कॉलेज में पल रहे हैं इसके बावजूद रजिस्ट्रेशन नहीं किये जाने से हमारे करियर के दो महत्वपर्ण शैक्षाणक वर्ष बर्बाद हो जायेंगे

यह भी पढ़े  रोजाना कोरोना टीकाकरण केंद्रों पर लग रही है सेकड़ो में भीड़, प्रसासन लाचार | Rohtas News -
फ़ाइल फ़ोटो वीर कुंवर सिंह आरा यूनिवर्सिटी

फॉर्म भरने की नहीं मिली अनुमति -Jawahar Lal Nehru College Dehri

Jawahar Lal Nehru College Dehri कॉलेज की छात्रा प्रीति कुमारी ने भी कुलपति से आह करते हुए कहा कि मैं बीएससी फिजिक्स ऑनर्सपार्ट वन की छात्रा है. कोलेज में नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन सख्या 19G0385349 दिनाक 26 जून 2019 है. उक्त फॉर्म को फिलअप करने के लिए मुझसे 300 चार्ज भी लिया गया. इसके बाद मुझे कॉलेज में नामांकन कराने की जानकारी प्राप्त हुई. 15 अक्तूबर 2019 को कॉलेज के रिसिप्ट संख्या 14 के माध्यम से मेरा नामाकन भी महाविद्यालय में किया गया है. इसके बावजूद इसके मुझे फॉर्म भरने की अनुमति नहीं देना मेरे शैक्षणिक करियर को तबाह करने के समान हैं.

रोहतास के डीएम एसपी का तबादला। धर्मेन्द्र कुमार बने रोहतास के नए डीएम व आशीष भारती बने एसपी,पूरा खबर पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

विवि को उपलब्ध करायी जानकारी -Jawahar Lal Nehru College Dehri

उन्होंने वीसी महोदय से छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए फॉर्म भरने की अनुमति प्रदान वारने का आग्रह किया है. इस संबंध में महाविद्यालय के प्राचार्य जितेंद्र सिंह ने बताया कि यह मामला उनके यहा पदस्थापित होने से पूर्व का है. इस संबध में उन्होंने सारी जानकारी विश्वविद्यालय को उपलब्ध करा दी है, अब देखना यह है,कि कॉलेज की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे हैं. इन छात्रों को विश्वविद्यालय स्तर से क्या कुछ मदद मिल पाता है या फिर उनके जीवन के महत्वपूर्ण 2 वर्ष महाविद्यालय के कर्मियों की लापरवाही का शिकार हो जायेगा|

Leave a Comment